(अर्धाकपारी) माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार | माइग्रेन दर्द को ठीक करने के लिए रामबाण घरेलु इलाज

migraine-ka-safal-gharelu-upchar-jioanish

माइग्रेन या सिरदर्द का रोग जिसके अर्धाकपारी भी बोलते है, आजकल ये आम समस्या होती जा रही है | माइग्रेन का दर्द तेज़ और असहनीय होता है जिसमें व्यक्ति अपने उपर से कण्ट्रोल तक खो देता है, इसके साथ-साथ कई दूसरी बीमारियों का जन्म होने लगता है जैसे हर समय उलटी जैसा मिजाज़, मानसिक तनाव, चक्कर इत्यादि | जैसे की ये दर्द अचानक से शुरू होता है तो आपको कुछ माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार जान लेना चाहिए जिससे आपको तुरंत काम आ सकता है |

अब आप शायद ये भी जानना चाहे की अस्थमा मरीज को क्या-क्या नही खाना(सेवन) करना चाहिए – पढ़े दमा या अस्थमा में क्या ना खाए | Foods to Avoid with Asthma

अगर आपने किसी को देख होगा तो तो आपको इस बात का आईडिया जरुर होगा कि माइग्रेन का दर्द  कितना तकलीफ दायक होता है हांलाकि यह दर्द अचानक ही शुरू होता है और अपने आप ही कुछ समय बाद ठीक भी हो जाता है।

माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार का तभी सम्भव है जब माइग्रेन होने की प्रमुख कारणों के बारे में जान लेंगे | इसकी मुख्य वजह देर रात तक जगकर काम करना, मानसिक तनाव, नजला रोग, चिंता करना, पेट का दर्द,मलेरिया आदि | महिलाओ में इसके कुछ कारणों में हिस्टीरिया, मानसिक बोझ, सदमा लगना आदि होते है | अगर पुरुषो और महिलाओ की बात करे तो महिलाये माइग्रेन का शिकार ज्यादा होती है |

इस दर्द में सर, गर्दन और कंधो की मालिश करने से दर्द में राहत मिलता है। अगर हल्की खुशबू वाले अरोमा तेल का प्रयोग करना फायदेमंद होता है,  माइग्रेन के दर्द को ठीक करने के कई तरीके हैं जैसे दवाइयां या फिर कुछ खाघ पदार्थ। यदि आपको हर समय दवाइयों पर जिन्‍दा नहीं रहना है तो अब खाघ पदार्थ खा कर अपने जीवन की रक्षा करें। इन्‍हें खाने के अलावा थोड़ा आराम करना भी आवश्‍यक है।

चलिए जानते है वो क्या है माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार?

माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार

देशी घी/गुड़

माइग्रेन यानि अर्धाकपारी रोगी को देशी घी को गुड़ में मिलाकर खाने चाहिए, सुबह से समय दर्द होने पर दूध और जलेबी का सेवन से आराम मिलता है| अगर चक्कर या उलटी जैसा मिजाज़ हो तो शहद खाने से दर्द के साथ उल्टी भी बंद हो जाती है |

तुलसी

सुबह के समय दर्द से निजात पाने में तुलसी के पत्तो का अहम भूमिका होता है, इसमें तुलसी के पत्तो की सुखाकर चूर्ण बना लेना है और फिर उसे शहद में मिलाकर दिन में 3 – 4 बार सेवन करना होता है| ये माइग्रेन का सफल घरेलू उपचार के सबसे कारगर उपचारों में से एक होता है |

खील

खील( 25 – 30 ग्राम) आपको शहद में मिलाकर सुबह में सेवन चाहिए, उसके बाद अगर थोड़ी देर आराम कर ले और और ज्यादा फायदेमंद हो जाता है |

नमक

नमक को शहद में मिलाकर सेवन करने से माइग्रेन में होने वाली असहनीय दर्द से राहत मिलती है | अगर इसे दिन में 2 – 3 बार प्रयोग में ला सकते है |

हींग

वैसे तो हींग कई सारी बीमारियों से निज़ात दिलाता है, माइग्रेन का घरेलू उपचार में हींग भी आपको कुछ हद तक आपको राहत दे सकता है | हींग को पानी के साथ अच्छे से मिलाकर 4-5 मिनट्स तक सूंघना है, आप इसके बने लेप को माथे पर लगा सकते है |

हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां

हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां इन सब्‍जियों में मैग्निशियम अधिक होता है। जिससे माइग्रेन के दर्द को जल्दी ठीक कर सकता है  साबुत अनाज, समुंद्री जीव और गेहूं आदि में बहुत मैग्निशियम होता है। अलसी के बीज में खूब सारा ओमेगा 3 और फाइबर पाया जाता है। यह बीज सूजन के साथ-साथ दर्द को कम करती हैं।

मछली

माइग्रेन के दर्द में मछली का सेवन फायदेमंद होता है क्युकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन पाया जाता है। ये तत्‍व माइग्रेन का दर्द पैदा करने वाली सनसनाहट को कम करते हैं।

इसे भी जाने : बाल झड़ना कैसे रोंके | Hair fall Treatment In Hindi | बाल झड़ने के कारण और उपचार |

आपको उपर में दी गयी बातो का ध्यान में रखकर आप खुद का या किसी की मदद कर सकते है| आप कोई भी सवाल कमेंट बक्स में पूछ या अपनी राय दे सकते है | आप शेयर जरुर करे |

loading...

Related posts

Leave a Comment